मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे स्टार्ट करें? [2022] में

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे स्टार्ट करें how to start mobile business अगर आप अपना खुद का बिजनेस स्टार्ट करना चाहते हैं और आप मोबाइल रिपेयरिंग को अपना करियर बनाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको मार्केट सर्च करना होगा कि किस जगह आप या शॉप ओपन कर सकते हैं।

इसके बाद ही आप यह बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं।
मोबाइल तथा इस स्मार्टफोन की संख्या प्रतिदिन बढ़ती जा रही है हमारे देश में कितनी जनसंख्या है लगभग उससे कुछ ही कम दर पर फोन यूजर्स है।

मोबाइल हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन गया है कुछ लोग मोबाइल मनोरंजन के लिए यूज करते हैं तथा वहीं कुछ मोबाइल अपने कार्य के लिए इस्तेमाल करते हैं ऐसे में मोबाइल खराब होना तथा उसे सही करवाना भी डेली का कार्य है।

मोबाइल बिजनेस स्टार्ट करने के लिए सबसे पहले आपको मार्केट तथा मोबाइल के बारे में अच्छी जानकारी प्राप्त करनी होगी आइए जानते हैं आप किन बातों का ख्याल रख कर यह बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं।

मोबाइल बिजनेस स्टार्ट करने के लिए सबसे पहले आपको मोबाइल की जानकारी होना आवश्यक है।

मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स

how to start mobile business

अगर आप कोई बिजनेस करना चाहते हैं और उसके लिए अपने ऑफिस में कुछ वर्कर भी रखेंगे फिर भी आपको उस बिजनेस के बारे में फुल जानकारी होना आवश्यक है।
मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस के लिए उससे पहले कोर्स करना चाहिए।

एक अच्छा बिजनेस men वही बिजनेस कर सकता है जिसको प्रोडक्ट और बिजनेस की पूरी जानकारी हो।

  • power of fault
  • liquid damage treatment
  • network problem
  • software fault
  • speaker microphone fault
  • charging problem
  • LCD replacement adjustment
  • drop physical damage phone
  • housing replacement
  • SP unlock sim destruction removal
  • flip or slide problem
  • software upgrade station
  • अनुभव बनाने के लिए आप कोई भी अच्छे रिपेयरिंग शॉप या सर्विस सेंटर ज्वाइन कर सकते हैं जब तक आप को प्रैक्टिस नहीं होगी आप जब अच्छे से नहीं कर पाएंगे।
    आपके पास वर्क एक्सपीरियंस जितना अच्छा होगा आप उतने ही अच्छे से अपना बिजनेस चला सकते हैं।

    मार्केट रिसर्च

    मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस खोलने के लिए सबसे पहले आपको अपने एरिया का मार्केट रिसर्च कर लेना होगा मार्केट ध्यान रखना होगा कि आप अपने बजट के किस तरह की शॉप लेनी है अपने डिस्प्ले में क्या-क्या चीजें प्रोवाइड करवानी है।

    एरिया का अच्छे से इलाज करने के बाद आपको पता चलेगा कौन सी सर्विस आपके एरिया में ज्यादा डिमांड पर है उसी के कोडिंग ऑफिस बना पाएंगे तथा वहां पर अच्छी सर्विस प्रोवाइड करवा सकते हैं जिससे आपके कस्टमर आकर्षित होंगे।

    मार्केट रिसर्च करते वक्त आपको ध्यान रखना चाहिए कि जिस एरिया में आप शॉप ओपन कर रहे हैं वह एरिया में कितने लोग हैं याने की वहा की जनसंख्या क्या है। जिससे आपको यह पता चलेगा कि यहां कि लोग किस तरह के स्मार्टफोन यूज़ करते हैं।

    एरिया रिसर्च में आपको ध्यान रखना होगा कि आसपास मोबाइल रिपेयरिंग की शॉप तो नहीं है और अगर वहां एक आज शॉप है भी तो वह किस तरह की है आप अपनी शॉप हो उससे थोड़ा अलग बनाकर सर्विस प्रोवाइड कर सकते हैं।

    मार्केट रिसर्च के वक्त आप आसपास की मोबाइल रिटेलर शॉप से भी कनेक्ट हो सकते हैं जिससे उनके आने वाले कस्टमर आपकी शॉप पर भी आ सकते हैं।

    मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस स्टार्ट करने में कितनी पूंजी लगती है?

    मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने से पहले आपको तय करना होगा आप कितनी बड़ी शॉप ओपन करना चाहते हैं और अपने शौक को किस डिजाइन में इंटीरियर करना चाहते हैं।

    इसके बाद आपको तय करना होगा कि आप अपने बिजनेस में कितना इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं क्योंकि मोबाइल बिजनेस में काफी अच्छा इन्वेस्टमेंट लग सकता है।

    क्लेवर पर स्टार्ट करने के लिए ही आपको कुछ टूल की आवश्यकता होगी को लेने के लिए आपको इन्वेस्टमेंट की जरूरत है।

    कुछ लोग मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस स्टार्ट करने में अपनी शॉप पर एक कॉर्नर पर रिपेयरिंग सुविधा देते हैं तथा दूसरे कार्नर पर मोबाइल भी सेल करते हैं।

    अगर आप इस तरह की शॉप ओपन करना चाहते हैं तो आपको काफी इन्वेस्टमेंट की जरूरत है।

    और अगर आपसे अपनी शॉप पर रिपेयरिंग करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 40 से 60 हजार तक का इन्वेस्टमेंट करना होगा।

    मोबाइल रिपेयरिंग टूल्स

  • एस एम डी
  • एमडी के लिए वायर हैंडल
  • 25 व्हाट शोल्ड ड्रिंक आयरन
  • सोल्डरिंग स्टेशन
  • डिजिटल मल्टीमीटर
  • पी वी सी क्लीनर और होल्डर
  • जंपर वायर सेट
  • ब्लैक सट्टा सेट
  • स्क्रुड्राइवर सेट
  • टीजर और ब्रश
  • मल्टीमीटर
  • डीसी पावर सप्लाई
  • बैटरी बूस्टर
  • अल्ट्रासोनिक क्लीनर
  • बीजीए रेबालिंग टूल
  • मैग्नीफाइंग लेंस
  • टेप्स
  • एस एम डी मल्टीमीटर टेस्ट रिजल्ट
  • स्क्रीन प्रिंटिंग मशीन
  • अगर आप अपने शॉप पर टेक्निशियंस को शुरू से रखना चाहते हैं तो आप 8 से ₹10000 तक की सैलरी दे ना पड़ सकती है ।

    जैसे-जैसे आप का बैलेंस बढ़ता है जाएगा आपको टूल्स तथा स्टॉक भी बढ़ाना पड़ेगा। लगभग आपको या बिजनेस स्टार्ट करने के लिए 50 से ₹60000 का खर्चा आएगा।
    अगर आप अपनी शॉप पर मोबाइल भी सेल करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको काफी बड़े पैमाने पर पूंजी इन्वेस्ट करनी होगी।

    मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस के लाभ

    मोबाइल रिपेयर बिजनेस आधुनिक युग में बढ़ती डिमांड के साथ बहुत प्रॉफिट वाला बिजनेस है।
    अगर इस मार्केट में कंपटीशन है तो प्रॉफिट भी है।
    आपको अपनी शॉप को आकर्षक बनाने के साथ-साथ अच्छी सर्विस भी प्रोवाइड करवानी होगी।

    सबसे पहले आपको shop का‌ यूनिक सा नाम रखना होगा।
    आपको अपनी दुकान सही लोकेशन पर ओपन कर ली होगी
    अगर आप अपने कस्टमर को अच्छी सर्विस देंगे तो वह आपके लिए परमानेंट कस्टमर आप बन जाएंगे।
    आप अपनी सर्विस न्यू स्टार्ट कर रहे तो आपको मार्केट की उपेक्षा अपने रेट भी कम रखने होंगे।

    मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस बनवाना जरूरी है?

    यदि आप अपने राज में कोई दुकान या बिजनेस शुरू करते हैं तो आपको गवर्नमेंट की तरफ से डिपार्टमेंट लाइसेंस लेना आवश्यक है उसके बाद आपको जीएसटी नंबर भी लेना होगा।
    रजिस्ट्रेशन के लिए

  • दुकान का नाम
  • दुकान का पता
  • मैनेजर का नाम
  • किस तरह की दुकान है
  • दुकान में कितने वर्कर है
  • पैन कार्ड आधार कार्ड
  • लाइट बिल
  • जीएसटी नंबर
  • बैंक अकाउंट
  • डिजिटल सिगनेचर
  • आदि आपको सबमिट करना होगा।
    अगर आप स्टार्टिंग से ही यह कार्य करके अपना बिजनेस स्टार्ट करते हैं तो आपके बिजनेस में काफी आसानी रहती है।
    शॉप ओपन होने के बाद अगर कोई सरकारी ऑफिस से आपकी शॉप पर आकर जांच पड़ताल करता है तो आपके बिजनेस पर सही असर नहीं पड़ता तथा कस्टमर भी आपको सही नहीं समझता।

    इसलिए कोई भी बिजनेस स्टार्ट करने से पहले अपना पंजीकरण अवश्य करवाएं।

    मोबाइल रिपेयरिंग की शॉप पर आप क्या-क्या सुविधाएं दे सकते हैं?

    मोबाइल रिपेयरिंग की शॉप पर अगर आप सिर्फ मोबाइल रिपेयर करते हैं तो वह आपकी इच्छा है पर अगर आप उस शॉप पर मोबाइल से रिलेटेड कुछ सुविधाएं उपलब्ध कराएंगे तो आपका बिजनेस जल्दी सेट होगा।

    सेकंड हैंड मोबाइल बेचने की सुविधा

    कुछ लोग मोबाइल खरीदते समय अपना मोबाइल बेचना भी चाहते हैं या कुछ कस्टमर मोबाइल सही कराने में इंटरेस्टेड नहीं होते और वह अपना मोबाइल बेचना चाहते हैं अगर ऐसे में आप यह सुविधा कस्टमर को देते हैं तो वह आपके बिजनेस का फायदे का सौदा है।

    मोबाइल कवर एक्सेसरीज सुविधा

    आज के आधुनिक विश्व में कस्टमर को अच्छे फोन के साथ साथ मोबाइल एक्सेसरीज की भी आवश्यकता है वे टाइम ही टाइम अपने मोबाइल कवर चेंज करते रहते हैं ऐसे में अगर आप अपनी शॉप पर अच्छे-अच्छे मोबाइल कवर की सुविधा देते हैं आपकी शॉप से आकर्षित होंगे।

    मोबाइल चार्जर सिम कार्ड सुविधा

    आप अपनी शॉप पर मोबाइल के चार्जर हेडफोन एयरफोन तथा न्यू सिम भी रख सकते हैं जिससे अगर किसी को चार्जर हेडफोन एयरफोन एयरपोर्ट की आवश्यकता है तो वह यह भी यही से ले सकते हैं।

    मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स कितने वर्ष में होता है?

    अगर आप बिजनेस शुरू करने से पहले या कोर्स करना चाहते हैं तो आपके लिए बहुत अच्छी बात होगी क्योंकि अगर शॉप पर आपका टेक्नीशियन वर्कर नहीं आया है और कस्टमर अगर आया है तो आज्ञाकारी खुद ही कर सकते हैं।

    इस कोर्स को करने की समय सीमा केवल 6 महीने हैं।
    मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स की फीस लगभग ₹30000 है भारत में अलग-अलग इंस्टिट्यूट में यह फीस 40 से 50 हजार तक भी हो सकती है।

    भारत सरकार द्वारा कुछ ऐसे प्रोजेक्ट भी चलाए जाते हैं जिसमें मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स फ्री में भी करवाया जाता है तथा कुछ कोर्स की मामूली फीस भी होती है।

    मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस मैं कितनी कमाई होती है?

    कोई भी बिजनेस स्टार्ट करने से पहले आपके दिमाग में यह बात आती है कि हम मंथली कितना कमा पाएंगे मोबाइल रिपेयरिंग आधुनिक युग में एक अच्छा बिजनेस है कंपटीशन के साथ-साथ इसमें अच्छा प्रॉफिट भी होता है पर हर बिजनेस को सेंड करने के लिए थोड़ा समय लगता है।

    जब आपका यह बिजनेस सेट होता है तो स्टार्टिंग में आप 10 से ₹20000 महीना कमा सकते हैं धीरे-धीरे यह आपके लिए अच्छी आए शोध का जरिया बन जाएगा।

    आपकी मंत्री आए आपके परिश्रम और कस्टमर को दी गई सर्विस पर निर्भर होती है। इस बिज़नेस में आप 50 से 80 हजार भी कमा सकते हैं पर इसके लिए आपको कड़ी परिश्रम करने होंगे।

    मोबाइल रिपेयरिंग शॉप का बिजनेस एक उभरता हुआ बिजनेस है इस बिजनेस को आप जितना जल्दी शुरू करते हैं उतना अच्छा है क्योंकि इंडिया में लगातार मोबाइल यूज़ बढ़ रहे हैं ऑनलाइन वर्क आने से कुछ लोग मोबाइल से ही कार्य कर रहे हैं ऐसे में अगर आप इस बिज़नेस में अपना करियर बनाते हैं तो आपका भविष्य उज्जवल है।

    यह बिजनेस आपके मार्केट रिसर्च मार्केट स्ट्रेटजी तथा आपकी मेहनत पर भी निर्भर है जितना ज्यादा आप अच्छी सर्विस कस्टमर को देंगे आप अर्निंगभी उतनी ही कर पाएंगे।

    how to start mobile business

    हमारे आर्टिकल में मोबाइल रिपेयरिंग कैसे से हमने सभी जानकारी देने का प्रयास किया है हमारे आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी क्वेश्चन हो तो कमेंट बॉक्स में जाकर आप पूछ सकते हैं।

    हमारा ब्लॉक आपको कैसा लगा हमें अवश्य बताएं और अपना सुझाव देना ना भूलें।
    धन्यवाद

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.